वाच्य किसे कहते हैं वाच्य की परिभाषा, भेद व उदाहरण | Vachya Kise Kahate Hain

नमस्ते दोस्तों मैं आप सभी लोगों का स्वागत करता हूं मैं Studyroot.in की तरफ से आज हम आपको वाच्य किसे कहते हैं (Vachya Kise Kahate Hain) के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर आएंगे हम पहले देखेंगे कि Vachya ke ke kitne bhed hote Hain और हम वाच्य के सभी वेदों को पढ़ने के साथ Vachya kise kahate Hain in Hindi Grammar यह पोस्ट क्लास 10 व 12 के छात्रों के लिए यह कहें 1 से लेकर 12 के सभी छात्रों के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है। मैंने इस को इस प्रकार लिखा है कि आप वाच्य के बारे में अधिकतम जानकारी प्राप्त कर सकें जिससे आपको दूसरी कोई पोस्ट पढ़ने की कोई जरूरत ना पढ़े।

Vachya Kise Kahate Hain
Vachya Kise Kahate Hain

वाच्य की परिभाषा | Vachya Ki Paribhasha

क्रिया के जिस रुप से यह पता चले कि किसी वाक्य में कर्ता, कर्म या भाव में किसी एक की प्रधानता है। उसे वाच्य (voice) कहते हैं। वाच्य तीन प्रकार के होते हैं।

  1. कर्त्तवाच्य ( Krit Vachya )
  2. कर्मवाच्य ( Karm Vachya )
  3. भावाच्य  ( Bhav Vachya )

कर्तवाच्य किसे कहते हैं | Krit Vachya Kise Kahate Hain

कर्त्तवाच्य – यदि वाक्य में प्रयुक्त क्रिया का लिंग व वचन कर्ता के अनुसार परिवर्तित होता है तो वहां कर्तवाच्य होगा।

कर्तवाच्य के उदाहरण

  • राम चाय पीता है। 
  • सीता खाना खाती है               
  • श्याम दूध पीता है।   
  • लड़के पत्र लिखते हैं।
  • मंजू पुस्तक पढ़ती है।  
  • राम पत्र लिखता है।

यहां ‘पढ़ती है’ क्रिया का कर्ता ‘मंजू’ वाक्य का उद्देश्य है इस प्रकार ‘पढ़ती है’ क्रिया कर्तवाच्य में है।

इन वाक्यों में कर्ता की प्रधानता है। तथा क्रिया के लिंग और वचन कर्ता के अनुसार हैं कर्तवाच्य में सकर्मक क्रिया के भी वाक्य होते हैं और अकर्मक क्रिया के भी वाक्य होते हैं।

  सकर्मक कर्तृवाच्य – श्याम पुस्तक पढ़ता है।                                                                                                      अकर्मक कर्तृवाच्य – श्याम सोता है।

विशेष तथ्य – यदि कर्ता के साथ ‘ने’ विभक्ति हो और कर्म के साथ ‘को’ विभक्ति हो, तो कर्तृवाच्य नहीं होगा, भाव वाच्य होगा।

  • राम ने रावण को मारा। ( भाववाच्य )
  • राम ने पुस्तक पढ़ी । ( कर्तृवाच्य )

कर्मवाच्य किसे कहते हैं | Karm Vachya Kise Kahate Hain

 कर्मवाच्य – यदि वाक्य में क्रिया का लिंगवचनकर्म‘ के अनुसार होगा, तो वहां कर्मवाच्य होता है। इस वाक्य में क्रिया सदैव सकर्मक होगी है।

कर्मवाच्य के उदाहरण

  • राम के द्वारा पुस्तक पढ़ी जाती है।
  • राम के द्वारा अख़बार पढ़ा जाता है।
  • राम से पत्र लिखा जाता है। 
  • पुस्तक मेरे द्वारा पढ़ाई गई। 
  • बच्चों के द्वारा निबंध लिखे गए। 
  • मंजू द्वारा पुस्तक पढ़ी गयी।

० यहां ‘पढ़ी गयीक्रिया का ‘पुस्तक‘ वाक्य का उद्देश्य है अतः ‘पढ़ी गयी‘ क्रिया कर्म वाच्य है।

 नोट – इस वाक्य में कर्ता के आगे ‘से द्वारा‘ कारक चिन्ह लग जाते हैं किंतु कर्म के आगे कारक चिन्ह नहीं लगता।   जैसे ‘पुस्तक’ के आगे कोई चिन्ह नहीं है।

बिना कर्ता के भी कर्मवाच्य के वाक्य बनते हैं। जैसे – पत्र भेज दिया गया। यहां केवल पत्र कर्म का प्रयोग हुआ है।

भाववाच्य किसे कहते हैं | Bhav Vachya Ke Udaharan

भाववाच्य में क्रिया का लिंग, वचन कर्ता कर्म दोनों के अनुसार न होकर भाव के अनुसार होता है। वहां भाववाच्य होता है। नोट – भाववाच्य में क्रिया सदैव एकवचन पुल्लिंग होती है, और अकर्मक क्रिया होती है।

भाववाचक के उदाहरण

  • राम से पढ़ा नहीं जाता।  
  • उससे पढ़ा जाता है।
  • उससे लिखा नहीं जाता है।
  • राधा से चला नहीं जाता। 
  • राधा से चला जाता है।
  • सीता ने पुस्तक को पढ़ा। 
  • राहुल से खेला नहीं जाता।
  • मुझसे बैठा नहीं जाता।     
  • हसा नहीं जाता।
  • सर्दी में उससे खेला नहीं जाता।

यहां ‘उससे’ कर्ता की प्रधानता न होकर केवल ‘खेला नहीं जाता‘ भाव की प्रधानता है, कर्म तो है ही नहीं।

  • कर्तृवाच्य में सकर्मक और अकर्मक दोनों ही प्रकार के क्रियाओं का प्रयोग होता है।
  • कर्मवाच्य में सदैव सकर्मक क्रिया का प्रयोग होता है।
  • भाववाच्य में सदैव अकर्मक क्रिया का प्रयोग होता है।

एक ही लाइन में वाच्य

  • कर्त्तवाच्य (कर्ता) – कर्ता विभक्ति  रहित विभक्ति यदि होगी तो केवल ‘ने’
  • कर्मवाच्य (कर्म) – कर्ता + से या के द्वारा + सकर्मक क्रिया
  • भाववाच्य (भाव) – कर्ता + से या के द्वारा + अकर्मक क्रिया  कर्ता + ने, कर्म + को

निष्कर्ष

दोस्तों आज की पोस्ट Vachya kise kahate Hain मैं उम्मीद करता हूं कि यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी मैंने Vachya in Hindi को सरलता के साथ समझाने की पूर्ण कोशिश की है। अगर कोई जानकारी Vachya kise kahate Hain और Vachya ke kitne bhed hote Hain in Hindi या अन्य किसी प्रकार की पोस्ट में हमसे कुछ छूट गया। हो तो आप नीचे कमेंट कर हमें सूचित कर सकते हैं। और हम आपके लिए आगे किस विषय पर जानकारी दें यह भी सुझाव जरूर बताएं आप आपके कमेंट का इंतजार रहेगा।

Leave a Comment