Gunvachak Visheshan | गुणवाचक विशेषण की परिभाषा, भेद व उदाहरण

स्वागत है दोस्तों आज की नई पोस्ट गुणवाचक विशेषण (Gunvachak Visheshan) में आज इस पोस्ट के माध्यम से जानने की कोशिश करेंगे की गुणवाचक विशेषण किसे कहते हैं (Gunvachak Visheshan Kise Kahate Hain) तथा सा ही गुणवाचक विशेषण के कुछ महत्वपूर्ण उदाहरण के माध्यम से इस पोस्ट को पढ़ेंगे।

यदि आप संपूर्ण विशेषण का अध्ययन करना चाहते हैं तो आप यहां पर क्लिक करके संपूर्ण विशेषण के अध्ययन कर सकते हैं।

gunvachak visheshan

गुणवाचक विशेषण की परिभाषा | Gunvachak Visheshan Ki Paribhasha

जिन विशेषणों से पदार्थ के गुण, रंग, आकार, दशा, अवस्था, समय, स्थान, रूप आदि का बोध होता है उसे गुणवाचक विशेषण कहते हैं इसके रूप निम्नलिखित है।

रंगबोधक  – लाल, हरा, पीला, नीला, काला, सफेद, नारंगी, बैंगनी, चमकीला, धुंधला, फीका, पीला आदि।
आकर बोधक – लंबा, चौड़ा, मोटा, पतला, ऊंचा, नीचा, ठिंगना, गोल, चौकोर, छोटा, बड़ा, सीधा, तिरछा, समान, नुकीला, टेढ़ा-मेढ़ा, सुंदर, भद्दा, सुडौल आदि।
स्थान बोधक – बायां, दायां, ग्रामीण, शहरी, पहाड़ी, मैदानी, पंजाबी, स्थानीय, बिहारी, भीतरी, बाहरी, देसी, क्षेत्रीय, भारतीय, अमेरिकी, ऊपरी, सतही, असमी, चौरस आदि।
काल बोधक – अगला, पिछला, नया, पुराना, ताजा, प्रातः, संध्या, आधुनिक, मासिक, वार्षिक, साप्ताहिक, दोपहर, वर्तमान, भूत, भविष्य, मौसमी, शायंकालीन, नवीन, आगामी, टिकाऊ, सवेरा आदि।
भाव बोधक – शूरवीर, कायर, अच्छा, बुरा, निर्दय, दयालु, बलवान, वीर आदि।
दिशा बोधक – उत्तर, दक्षिण, पूर्व, पश्चिम, उत्तर-पूर्व, दक्षिण-पूर्व, ऊपरी, निचला, दायां, बायां आदि।
स्पर्श बोधक – सख्त, मुलायम, ठंडा, गरम, कोमल आदि।
प्रमय बोधक – प्रातःकालीन सायंकालीन, दैनिक, साप्ताहिक, मासिक, त्रैमासिक, छमाही, तिमाही, वार्षिक आदि।
दशा बोधक – स्वस्थ, रोगी, अस्वस्थ, कमजोर, दुबला, बलिष्ठ आदि।
दोष बोधक – झूठा, घमंडी, दुष्ट, बुरा, पापी, बेईमान, लालची, क्रूर, कठोर आदि।
स्वाद बोधक – मीठा, खट्टा, कड़वा, नमकीन, तीखा आदि।
अवस्था बोधक दुबला, पतला, लंबा, मोटा, छोटा, भारी, गाढ़ा, गीला, सूखा, अमीर, गरीब, रोगी, निरोगी, अस्वस्थ, स्वस्थ, भारी, हल्का, बूढ़ा, जवान, कमजोर, उद्यमी, पालतू, सुख, घना आदि।

गुणवाचक विशेषण की पहचान | Gunvachak Visheshan Ki Pehchan

गुणवाचक विशेषण में कैसा, कैसे, कैसी लगाकर चेक कर सकते हैं। (यह कहे कि सीधा क्वेश्चन कर सकते हैं)

जैसे – ईमानदार व्यक्ति

Question करे कैसा व्यक्ति?

Answer ईमानदार व्यक्ति

 

यदि Answer मिल जाता है तो इसे गुणवाचक विशेषण कहेंगे।

विशेषण से, संज्ञा का गुण अथवा विशेषता प्रकट होती है और उसके प्रयोग से जातिवाचक संज्ञा की व्यापकता मर्यादित हो जाती है।

जैसे – बड़ा हाथी कहने से हाथी की विशेषता व्यक्त होने के अतिरिक्त उसी हाथी का बोध होता है जो बड़ा है।

संज्ञा के साथ सा, नमक, संबंधी, रूपी आदि शब्दों को जोड़कर विशेषण का निर्माण करते हैं।

उदाहरण

  • चरण रूपी कमल।
  • विद्या रूपी धन।
  • फुल-सा शरीर। 
  • गृह संबंधी।
  • अर्जुन नामक पुत्र।

गुणवाचक विशेषण और भाववाचक संज्ञा में अंतर

गुणवाचक विशेषण शब्दों में किसी वस्तु के रंग, गुण, दोष, दिशा, गढ़, अवस्था आदि का बोध होता है।

परंतु भाववाचक संज्ञा शब्दों में भाव, गुण, दोष, दशा, अवस्था आदि के नाम का बोध होता है।

गुणवाचक विशेषणभाववाचक संज्ञा
बूढ़ा, अच्छा, बड़ा, सुंदर, क्रोध, हरा, शांतबुढ़ापा, अच्छाई, बुराई, सुंदरता, क्रोधी, हरियाली, शांति

गुणवाचक विशेषण के उदाहरण | Gunvachak Visheshan Ke Udaharan

  • अमित अच्छा लड़का है। 
  • तुम शांत मन से विचार करो। 
  • सुधा को मीठा सेब पसंद है। 
  • तृष्णा क्रोध से भरकर बोली। 
  • सीता अत्यंत सुंदर है। 
  • उसने लाल शर्ट पहनी है। 
  • वह लाल घोड़े पर सवार था। 
  • वह कुर्सी बहुत ऊंची थी। 
  • यह पर्वत बहुत ऊंचा है। 
  • अशोक नीला शर्ट पहने है। 
  • राकेश बहुत पतला है। 
  • शुभम बहुत मोटा है। 
  • हम सब भारतीय हैं। 
  • यह फल ताजा है। 
  • राजा बहुत दयालु है। 
  • राम बहुत वीर है। 
  • भोजन अभी गर्म है। 
  • पानी बहुत ठंडा है। 
  • हमारे स्कूल में बड़ा सा पेड़ है। 
  • ईमानदार बालक। 
  • शनि बहुत दुबला है। 
  • अंकित बहुत घमंडी है। 
  • यह फल बहुत मीठा है। 
  • मकान बहुत सुंदर है। 
  • यह मोबाइल फोन बहुत टिकाऊ है। 
  • काला हाथी।

गुणवाचक विशेषण के कुछ अन्य उदाहरण | Gunvachak Visheshan Example in Hindi

  • राम बहुत वीर है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में वीर शब्द से राम के गुण का बोध हो रहा है उदाहरण में वीर शब्द राम की वीरता का वर्णन कर रहा है इसी कारण इस वाक्य को भी गुणवाचक विशेषण के अंदर शामिल किया गया है।

  • यह फल ताजा है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में ताजा शब्द से फल की विशेषता का वर्णन कर हो रहा है इस कारण इस उदाहरण में ताजा को गुणवाचक विशेषण के तहत माना जाएगा।

  • काला हाथी।

ऊपर दिए गए उदाहरण में काला शब्द से हाथी की विशेषता का वर्णन हो रहा है कि वह हाथी काला है इसी कारण इस वाक्य को भी गुणवाचक विशेषण में शामिल करेंगे।

 

  • पुस्तक मोटी है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में मोटी शब्द से पुस्तक के गुण को बताने के लिए किया गया है। कि यह पुस्तक मोटी है इसी कारण इस वाक्य को भी गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत शामिल करेंगे।

  • शनि बहुत ईमानदार है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में ईमानदार शब्द शनि के गुण को बता रहा है इस उदाहरण में शनि कि ईमानदारी को बताया जा रहा है इस कारण इसे भी गुणवाचक विशेषण कहेंगे।

  • पानी बहुत ठंडा है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में ठंडा शब्द पानी के गुण को बता रहा है कि पानी बहुत ठंडा है इसी कारण इस वाक्य को भी गुणवाचक विशेषण में शामिल किया गया है।

 

  • सचिन लाल घोड़े पर सवार है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में लाल शब्द के माध्यम से उस घोड़े की विशेषता या गुण को बताया गया है जो लाल है इसी कारण इस वाक्य को भी गुणवाचक विशेषण में शामिल किया गया है।

  • मकान बहुत सुंदर है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में सुंदर शब्द के माध्यम से उस मकान के गुण का वर्णन किया जा रहा है जो सुंदर है इसी कारण इस वाक्य को भी गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत शामिल किया गया है।

  • राकेश बहुत पतला है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में पतला शब्द राकेश के गुण के विषय में वर्णन कर रहा है कि राकेश पतला है इसी कारण से वाक्य को भी गुणवाचक विशेषण में शामिल किया गया है।

गुणवाचक विशेषण के वाक्य | Gunvachak Visheshan Ke Vakya

  • यह फल ताजा है। 
  • राजा बहुत दयालु है। 
  • राम बहुत वीर है।
  • वह कुर्सी बहुत ऊंची थी। 
  • यह पर्वत बहुत ऊंचा है।
  • तृष्णा क्रोध से भरकर बोली। 
  • सीता अत्यंत सुंदर है। 
  • उसने लाल शर्ट पहनी है।

 

निष्कर्ष

छात्रों मैं उम्मीद करता हूं कि आपको आज की यह पोस्ट गुणवाचक विशेषण किसे कहते हैं (Gunvachak Visheshan Kise Kehte Hain) आपको पसंद आई होगी मैं इस पोस्ट को गुणवाचक विशेषण को कुछ उदाहरण (Gunvachak Visheshan Ke Udaharan) के माध्यम से समझने की संपूर्ण कोशिश की है जिससे आपको गुणवाचक विशेषण आसानी से समझ में आ जाए।

यदि आपको गुणवाचक विशेषण या इस पोस्ट से किसी प्रकार का कोई शिकायत है या आपको गुणवाचक विशेषण (Gunvachak Visheshan) से संबंधित कोई सुझाव देना है तो आप हमें कमेंट सेक्शन या फिर ईमेल के माध्यम से सूचित कर सकते हैं मैं आपके इस सवाल का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करूंगा आपके बहुमूल्य विचारों का इंतजार रहेगा।

स्टूडेंट यदि आपको गुणवाचक विशेषण की पोस्ट अच्छी लगी है तो आप अपने मित्रों व परिवार के साथ ऐसे फेसबुक ट्विटर व्हाट्सएप्प पर शेयर कर सकते हैं।

 

Leave a Comment