धरती का पर्यायवाची शब्द | Dharti Ka Paryayvachi Shabd Kya Hota Hai

धरती का पर्यायवाची शब्द | Dharti Ka Paryayvachi Shabd : पृथ्वी, वसुधा, मेदिनी, अवनी, धरा, धरणी, क्षिति आदि, आज की नई पोस्ट धरती का पर्यायवाची शब्द हिंदी में आज इस पोस्ट के माध्यम से जानने की कोशिश करेंगे की धरती का पर्यायवाची शब्द तथा साथ ही ध से पर्यायवाची शब्द हिंदी में | ( Dharti Ka Paryayvachi Shabd in Hindi) के कुछ महत्वपूर्ण उदाहरण के माध्यम से इस पोस्ट को पढ़ेंगे।

Dharti ka paryayvachi Shabd kya hota hai
Dharti ka paryayvachi Shabd kya hota hai

पर्यायवाची शब्द किसे कहते हैं?

पर्यायवाची शब्द की परिभाषा : वह शब्द जो एक समान अर्थ (एक दूसरे की तरह अर्थ) रखते हैं। वो शब्द पर्यायवाची शब्द कहलाते हैं।

चुंकि इनके अर्थ में समानता अवश्य रहती है लेकिन इनका प्रयोग विभिन्न प्रकार से होता है पर्यायवाची शब्दों को उसके गुण व भाव के अनुसार प्रयोग किया जाता है क्योंकि एक ही शब्द या नाम हर स्थान पर उपयुक्त नहीं हो सकता है ‘इच्छा’ शब्द के स्थान पर ‘कामना’ शब्द प्रयोग करना कितना शर्मनाक होगा आपको ऐसे शब्दों का प्रयोग करना चाहिए जो छोटे व प्रचलित हो।

धरती का पर्यायवाची शब्द क्या होता है?

धरती का पर्यायवाची शब्दDharti Ka Paryayvachi Shabd
पृथ्वी, वसुधा, मेदिनी, अवनी, धरा, धरणी, क्षितिPrithvi, Vasudha, Medini, Avni, Dhara, Dharni, Chitti

ध से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

  • धक्का – टक्कर, झोंका, भिड़ंत, आघात, लघट्ट, रेला
  • धन – रुपया-पैसा, पैसा, दौलत, माल, द्रव्य, माया, सम्पदा
  • धंधा – व्यापार, कारोबार, व्यवसाय, कामकाज, रोजगार, उद्यममात्सर्य
  • धनन्जय – अर्जुन, पार्थ, कौन्तेय, गाडीवधर, गुडाकेश, किरीटिश्श्वेत वाहना, वीभत्सुर्विजयी 
  • धनवान – पैसेवाला, धनी, दौलतमंद, मालदार, धनपति, धनाढ्य, धन्नासेठ
  • धनुष – कमान, चाप, पिनाक, शरासन, कोदंड
  • धनुर्धर – धनुधारी, तीरदाज, धन्वी, कमनैत, निषगी 
  • धन्यवाद – शुक्रिया, मेहरबानी, आभार, कृतज्ञ 
  • धरोहर – अमानत, थाती, जमा

धरती से जुडे कुछ रोचक तथ्य

Dharti Ka Paryayvachi Shabd

धरती – धरती हमारी माता है। हिंदू धर्म में इसकी पूजा की जाती है। भारतीय संस्कृति में धरती को माता की उपाधि दी गई है।

हम सब धरती माता की गोद में है। हमें धरती पर सफाई के प्रति लोगों को जागरूक करना चाहिए क्योंकि लोग धरती को गंदा करते जा रहे हैं।

सभी ग्रहों में से एक मात्र धरती ही है। जिस पर जीवन संभव है। हमारा अस्तित्व धरती से जुड़ा है। धरती ना होती तो हमारा जीवन ना होता। हमारे धरती पर अनेक प्रकार के धार्मिक स्थल पाए जाते हैं और लोगों को बहुत पसंद आते हैं और जगह-जगह से लोग धार्मिक स्थलों पर घूमने जाते हैं। हमारी धरती पर हमें सुंदर-सुंदर चीजें देखने को मिलती हैं। जो हमारे मन को मोह लेती है।

ईश्वर ने धरती पर सुंदर पहाड़, समुद्र, प्राकृतिक दृश्य प्राचीन चीजें आदि बनाए हैं। जो हम लोग दूर दूर से देखने जाते हैं। जो हमें सौन्दर्य रूप में नजर आती हैं। और इससे हमें आनंद प्राप्त होता है।

हमरी धरती पर खाने के लिए अनाज, फल, सब्जियां पाई जाती हैं। और बीमारी में निम्न प्रकार की जड़ी बूटियां औषधियां पाई जाती हैं। हमारे जीवन के लिए अत्यंत लाभदायक होते हैं।

Leave a Comment