चांदी का पर्यायवाची शब्द | Chandi Ka Paryayvachi Shabd Kya Hota Hai

चांदी का पर्यायवाची शब्द | Chandi Ka Paryayvachi Shabd : रूपा, रुक्म, गातरूप, रूपक, नौध, चंद्रहास, रौप्य, रजत आदि, आज की नई पोस्ट चांदी का पर्यायवाची शब्द हिंदी में आज इस पोस्ट के माध्यम से जानने की कोशिश करेंगे की चांदी का पर्यायवाची शब्द तथा साथ ही च से पर्यायवाची शब्द हिंदी में | ( Chandi Ka Paryayvachi Shabd in Hindi) के कुछ महत्वपूर्ण उदाहरण के माध्यम से इस पोस्ट को पढ़ेंगे।

Chandi ka paryayvachi Shabd kya hota hai
Chandi ka paryayvachi Shabd kya hota hai

पर्यायवाची शब्द किसे कहते हैं?

पर्यायवाची शब्द की परिभाषा : वह शब्द जो एक समान अर्थ (एक दूसरे की तरह अर्थ) रखते हैं। वो शब्द पर्यायवाची शब्द कहलाते हैं।

चुंकि इनके अर्थ में समानता अवश्य रहती है लेकिन इनका प्रयोग विभिन्न प्रकार से होता है पर्यायवाची शब्दों को उसके गुण व भाव के अनुसार प्रयोग किया जाता है क्योंकि एक ही शब्द या नाम हर स्थान पर उपयुक्त नहीं हो सकता है ‘इच्छा’ शब्द के स्थान पर ‘कामना’ शब्द प्रयोग करना कितना शर्मनाक होगा आपको ऐसे शब्दों का प्रयोग करना चाहिए जो छोटे व प्रचलित हो।

चांदी का पर्यायवाची शब्द क्या होता है?

चांदी का पर्यायवाची शब्दChandi Ka Paryayvachi Shabd
रूपा, रुक्म, गातरूप, रूपक, नौध, चंद्रहास, रौप्य, रजतRupa, Rukman, Gatroom, Rupak, Naodh Chandrahas, Ropy, Rajat

 से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

  • चाँदी – रजत, चन्द्रहास, रूपा, रौप्य, गातरूप, रूपक, रुक्म, नौध 
  • चाटुकारी – चमचागीरी, चापलूसी, मिथ्या प्रशंसा, खुशामद, चिरौरी, 
  • चोर – तस्कर, दस्यु, रजनीचर, कुम्भिल, खनक, मोषक, कभिज, 
  • चोटी – शिखर, शिरोबिन्दु, तुंग, परकोटि, शीश, सानु, श्रृंग
  • चन्द्रमा – शशि, शशांक, मयंक, राकेश, सुधाशु, हिमकर, हिमांशु, सुधाकर, इन्दु, निशानाथ, राकापति, निशिपति, निधि, सुधाकर, निशाकर, विभाकर, विधु, कला निधि, 
  • चमक – प्रकाश, दीप्ति, प्रभा, ज्योति, द्युति, कान्ति, शोभा, छवि, आभा
  • चपला – बिजली, विद्युत, दामिनी, चंचला, तडित 
  • चक्षु – आँख, नेत्र, नयन, लोचन, अक्षि, दृग
  • चतुर – होशियार, निपुण, कुशल, प्रवीण, विज्ञ, दक्ष, पटु, नागर, सयाना, निष्णात
  • चाँदनी – चन्द्रिका, चन्द्रकला, कौमुद्री, चन्द्रमरीची, ज्योत्सना, अमृत तरंगिणी, 
  • चश्मा – ऐनक, उपनयन, सहनेत्र, उपनेत्र
  • चंदन – दिव्यगंध, हरिगंध, मलय, दारूसार, मलयज

चांदी से जुडे कुछ रोचक तथ्य

Chandi Ka Paryayvachi Shabd

चांदी – चांदी एक चमकीली धातु है। चांदी की परमाणु संख्या 47 तथा रासायनिक सूत्र Ag होता है।

चांदी का उत्पादन शिवजी की आंख से हुआ था।

चांदी का उपयोग आभूषण बनाने में किया जाता है। चांदी बिजली का सबसे अच्छा सुचालक है। इसे दूसरे वस्तुओं की सुचालकता मापने के लिए अहम रूप से प्रयोग में लाया जाता है।

चांदी सोने के बाद सबसे लचीली वस्तु है यदि आप ने 29 ग्राम चांदी का तार बनाना चाहते हैं तो उसे 2.5 किलोमीटर लंबी तार को बना सकते हैं। परंतु 29 ग्राम सोने से 8 किलोमीटर से लंबी तार को बनाया जा सकता है।

  • चांदी में 95% प्रकाश को परावर्तित करने की क्षमता होती है।
  • चांदी का उपयोग माइक्रोस्कोप, दूरबीन और सौर ऊर्जा के पैनल को बनाने में किया जाता है।
  • चांदी का उपयोग कलासाउडिंग बनाने में किया जाता है। कलासाउडिंग एक ऐसा उपकरण है जिसका प्रयोग समय से पहले वर्षा कराने में किया जाता है।
  • चांदी का उपयोग भोज्य पदार्थों को सजाने में किया जाता है। जैसे मिठाइयों में क्योंकि चांदी को खाने से कीटाणु की मृत्यु हो जाती है।
  • उत्तरी अमेरिका का मेक्सिको चांदी का सबसे ज्यादा उत्पादन करता है। इसके बाद पेरू का दूसरा स्थान आता है।

Leave a Comment