भाई का पर्यायवाची शब्द | Bhai Ka Paryayvachi Shabd Kya Hota Hai

भाई का पर्यायवाची शब्द | Bhai Ka Paryayvachi Shabd : भाई- अनुज, तात, भैया, अग्रज, सहोदर, बंधु आदि, आज की नई पोस्ट भाई का पर्यायवाची शब्द हिंदी में आज इस पोस्ट के माध्यम से जानने की कोशिश करेंगे की भाई का पर्यायवाची शब्द तथा साथ ही भ से पर्यायवाची शब्द हिंदी में | ( Bhai Ka Paryayvachi Shabd in Hindi) के कुछ महत्वपूर्ण उदाहरण के माध्यम से इस पोस्ट को पढ़ेंगे।

bhai ka paryayvachi Shabd kya hota hai
bhai ka paryayvachi Shabd kya hota hai

पर्यायवाची शब्द किसे कहते हैं?

पर्यायवाची शब्द की परिभाषा : वह शब्द जो एक समान अर्थ (एक दूसरे की तरह अर्थ) रखते हैं। वो शब्द पर्यायवाची शब्द कहलाते हैं।

चुंकि इनके अर्थ में समानता अवश्य रहती है लेकिन इनका प्रयोग विभिन्न प्रकार से होता है पर्यायवाची शब्दों को उसके गुण व भाव के अनुसार प्रयोग किया जाता है क्योंकि एक ही शब्द या नाम हर स्थान पर उपयुक्त नहीं हो सकता है ‘इच्छा’ शब्द के स्थान पर ‘कामना’ शब्द प्रयोग करना कितना शर्मनाक होगा आपको ऐसे शब्दों का प्रयोग करना चाहिए जो छोटे व प्रचलित हो।

भाई का पर्यायवाची शब्द क्या होता है?

भाई का पर्यायवाची शब्दBhai Ka Paryayvachi Shabd
भाई- अनुज, तात, भैया, अग्रज, सहोदर, बंधुAnuj, Taat, Bhaiya, Agraj, Sahodar, Bandu

भ से शुरू होने वाले पर्यायवाची शब्द

  • भेदिया – भेदी, जासूस, दूत, गुप्तचर
  • भोला –  सीधा, सरल, निर्दोष, निष्कपट, अकुटिल, निष्डल, निष्काम 
  • भौचक्का – हैरान, हक्का-बक्का, आश्चर्यचकित, विस्मित, चकित
  • भ्रष्ट – बदमाश, दुष्ट, लुच्चा, लफगा, पाजी, दुर्वृत्त, लम्पट
  • भाल – मस्तक, माथा, कपाल, ललाट
  • भाषा – बोली, वाणी, जवान, गिरा
  • भाषाविज्ञान – भाषाशास्त्र, शब्दविज्ञान, अक्षरशास्त्र, शब्दशास्त्र
  • भास्कर – दिवाकर, प्रभाकर, दिनकर, प्रकाशवान, चमकीला, चमकदार, दीप्तिमय आभामय
  • भिक्षुक – भिखारी, भिखमंगा, याचक
  • भिड़ंत – संघर्ष, मुठभेड़, टक्कर, सघात, संघट्ट
  • भ्रमर – भौरा, मधुकर, अलि, मधुराज, मधुभक्षी, मधुप, भृग, षटपद, द्विरेफे
  • भंगिमा – टेढापन, कुटिलता, वक्रता
  • भंगुर – क्षणिक, क्षणभगुर, भग्नशील, नश्वर, नाशवान
  • भंडार – गोदाम संग्रहालय, संग्रहागार, मालखाना, आगार
  • भगिनी – बहन, जीजी, दीदी, सहोदरा 
  • भर्त्सना – फटकार, डॉट-डपट, निन्दा, कुत्सा, दुत्कार, झिड़की 
  • भला – नेक, अच्छा, बढ़िया, उत्तम, सज्जन
  • भव्य – आलीशान, शानदार, दिव्य, मनोहर, रमणीय
  • भाँड – जोकर, मसखरा, विदूषक
  • भाग – हिस्सा, टुकडा, खण्ड, अंश, अंग, अवयव
  • भाग्य – किस्मत, तकदीर, नसीब, प्रारब्ध मुकद्दर, 
  • भारत – हिन्दुस्तान, आर्यावर्त्त, भारतखण्ड, जम्बूद्रीय, 
  • भारती – शारदा, सरस्वती, वीणावादिनी, विद्यादेवी, वाणी, वागीश, वागेश्वरी, विधात्री, वाचा, गिरा, ब्राह्मी
  • भारी – वजनदार, वजनी, बोझिल
  • भिन्न – अलग, जुदा, विविध, विभिन्न, पृथक्
  • भीड – जमावडा, भीड़-भाड़, जनसमूह, जनसकुल, जमघट, भीड-भडक्का, 
  • भुगतान – भरपाई, चुकौती, अदायगी, बेबाकी
  • भूमिका – मुखबन्ध, आमुख, प्रस्तावना, लेखकीय, प्राक्कथन, पूर्व-पीठिका, दो शब्द
  • भूल – गलती, चूक, भ्रम, त्रुटि, अशुद्धि

भाई से जुडे कुछ रोचक तथ्य

Bhai Ka Paryayvachi Shabd

भाई- भाई हमारे जीवन में मां बाप की तरह छोटी-छोटी खुशियों का ध्यान रखते हैं। और हमेशा दोस्त की तरह साथ रहते हैं।

भाई हमें हर प्रकार की खुशी देते हैं और हम अपने भाई से इतना भी लड़ाई झगड़ा कर ले लेकिन फिर भी हम एक दूसरे से इतना प्यार करते हैं कि एक दूसरे के बिना नहीं रह सकते हैं। भाई बहन का प्यार ही इतना अनोखा होता है।

बहन-भाई- बहन अपने भाई को राखी बांधती है। जिससे उनका रिश्ता राखी की डोर की तरह मजबूत बना रहे। बहन भाई एक दूसरे से लड़ते हैं मार भी करते हैं लेकिन एक दूसरे से प्यार भी बहुत करते हैं। 

बचपन से हम साथ रहते हैं साथ स्कूल जाते हैं साथ ही खेलते हैं और साथ ही खाना खाते हैं और एक दूसरे से लड़ते झगड़ते हैं कुछ देर बात नहीं करते हैं लेकिन फिर साथ ही खेलने कूदने लगते हैं। हम कितने भी बड़े क्यों ना हो जाए लेकिन हम भाई-बहन की लड़ाई बचपन की तरह ही होती रहती है।

बहन भाई हो या भाई भाई हो एक दूसरे से बहुत प्रेम करते हैं चाहे कितना भी लड़ झगड़ ले लेकिन एक दूसरे के बगैर नहीं रह पाते हैं।

Leave a Comment